name
name
name
name
name
name

सूचना

प्राथमिक भूमि विकास बैंकों द्वारा वर्तमान में किसानों एवं लघु उद्यमियों को 12.50 प्रतिशत वार्षिक ब्‍याज दर पर दीर्घकालीन ऋण उपलब्‍ध करवाये जा रहे हैं।

   
name
name
View more... लघु सिचाई योजनाएं   View more... कृषियंत्रीकरण ऋण योजना
View more... विविधिक्रत ऋण योजना   View more... अकृषि ऋण योजना
View more... जन मंगल आवास् योजना   View more... -कृषि/अकृषि‍ ॠण एकमुश्त समझौता योजना
View more... अन्य योजनाएं      

 

सहायता योजनाये...

 

1- असफल कूप क्षति पूर्ति सहायता योजना..

प्रभूमि विकास बैंकों द्वारा दिये गये ऋण से निर्मित कूप असफल होने पर क्षतिपूर्ति सहायता देय।असफल होने के मापदण्ड :रबी की फसल के समय 24 घण्टों में कम से कम दो घण्टें इसकी पानी की निकासी 2 लीटर प्रति सेकण्ड से कम हो यानि कुएं की जल निकास क्षमता पर्याप्त नही हो, पानी की रासायनिक गुणवत्ता कृषि कार्यो के लिये उपयुक्त नहीं हा, खुदाई के दौरान कुए की दीवारें ढह जाने से नीचे पानी निकालना सम्भव नहीं हो, यदि भूमिगत जल उपलब्ध होने की सम्भावना नहीं हो, डगवेल/डगकम बोर वेैल जो लघु सिचाई योजनाओं में निर्दिष्ट गहराई तक खोदा गया हो किन्तु किसी प्राकृतिक आपदा के कारण वह ढह जाये या नष्ट हो जावें आदि

 

2- असफल नलकूप सहायता योजना..

भूमि विकास बैंकों से ऋण प्राप्त कर निर्मित नलकूपों के असफल होने पर दिनांक 1-4-2005 को राज्य बैंक द्वारा असफल नलकूप क्षति पूर्ति योजना प्रारम्भ की गई है। योजनान्तर्गत निम्न लिखित दो आधारों पर नलकूप को असफल माना जावेगा :

1- नलकूप के निर्माण के दौरान अथवा निर्माण के पश्चातफ 30 दिनों की अवधि में नलकूप में गहराई पर पाई गई अपेक्षाकृत कमजोर परत के ढह जाने पर या अन्य किसी प्राकृतिक आपदा के कारण नलकूप के ढह जाने पर जिसका आगे उपयोग सम्भव नहीं हो।

2- नलकूप से प्राप्त भूजल की रासायनिक गुणवत्ता कृषि कार्यो हेतु उपयुक्त नहीं पाये जाने पर।

 

 

 

 

 

 

name
Design & Developed by Information & Computer Section @2014 R.S.L.D.B. Ltd
name