name
name
name
name
name
name

सूचना

प्राथमिक भूमि विकास बैंकों द्वारा वर्तमान में किसानों एवं लघु उद्यमियों को 12.50 प्रतिशत वार्षिक ब्‍याज दर पर दीर्घकालीन ऋण उपलब्‍ध करवाये जा रहे हैं।

   
name
name
View more... लघु सिचाई योजनाएं   View more... कृषियंत्रीकरण ऋण योजना
View more... विविधिक्रत ऋण योजना   View more... अकृषि ऋण योजना
View more... जन मंगल आवास् योजना      
View more... अन्य योजनाएं      

 

अकृषि ऋण योजनाएं...

 

1- उद्यम ऋण योजना ..

योजना के तहत उद्यमियों को 22 व्यापक समूहों के अन्तर्गत आने वाले लघु, सूक्ष्म एवं कुटीर उद्योगों के लिए भवन व शैड, सयंत्र और मशीनरी, उपकरण और औजार, औद्योगिक उन्नयन एवं एकच की कार्यशील पूंजी तथा सेवा क्षेत्र गतिविधियों हेतु अधिकतम 30 लाख रूपये तक की परियोजना लागत की इकाईयों हेतु 20 लाख रूपये तक के ऋण समुचित प्रतिभूति के आधार पर 5 से 10 वर्षअनुग्रह अवधि 18 माह हेतु ऋण उपलब्ध।

 

2- लघु सड़क एवं जल परिवहन वाहन योजना..

ग्रामीण उत्पाद एवं यात्रियों के परिवहन हेतु परिवहन वाहनों जैसे हल्के मोटर वाहन, जीप, आटो रिक्शा, टक, बस, मोटर बोट, लांचेज आदि के लिए एक व्यक्ति को अधिकतम 10 वाहनों हेतु रू- 15-00 लाख तक की ऋण सुविधा 5 वर्ष के लिए ग्रेस अवधि 2 माह उपलब्ध है।

 

3- स्वरोजगार क्रेडिट कार्ड योजना..

छोटे कारीगर, हथकर्घा बुनकरों, सेवा क्षेत्र/स्वरोजगार में लगे व्यक्तियों, रिक्शाधारकों, अन्य लघु उद्यमकर्ताओं आदि को कार्यशील पूंजी अथवा ब्लॉक पूंजी दोनों के लिये सुगमता से कम लागत पर शीघ्र ऋण सुविधा उपलब्ध करायी जायेगी। इससे अति सूक्ष्म उद्यमियों, ग्रामीण दस्तकारों, पारम्परिक व्यवसायियों एवं सेवा गतिविधियों में लगे हुये व्यक्तियों को अपने व्यवसाय में वृद्धि करके आजीविका के साधन उपलब्ध कराने में सहायता मिलेगी।

 

4- पर्यटन सेवा ऋण योजना..

कृषकों के कार्य कलापों के विस्तार एवं छोटी और सीमान्त जोतों को आर्थिक रूप से लाभकारी बनाने हेतु कृषि भूमि क्रय करने के लिए ऋण

 

5- शैक्षणिक संस्थान हेतु ऋण ..

1- शेक्षणिक संस्थान की स्थापना या विकास हेतु व्यक्तिया, पंजीकृत समिति अथवा टस्ट को स्वयं की प्रतिभूति के आधार पर ऋण उपलब्ध

2- ऋण राशि में भवन निर्माण, फर्नीचर, कम्प्यूटर, प्रयोगशाला, वाहन, खेलकूद व मनोरंजन का सामान आदि एवं आवश्यकतानुसार कार्यशील पूंजी हेतु बैंक द्वारा अधिकतम 20 लाख रूपये तक ऋण 10 वर्ष की अवधि के लिए देय ।

 

6- उच्च शिक्षा ऋण ..

स्नात्कोत्तर, तकनीकि, मेडिकल, प्रोफेशनल कोर्सेज में अध्ययन हेतु रू- 10;00 लाख तक की ऋण सुविधा-, 5 वर्ष की अवधि के लिए -समुचित प्रतिभूति के आधार पर ऋण स्वीकृति- ऋण किश्तों का चुकारा कोर्स की अवधि के पश्चात्‌ प्रारम्भ।-

 

7- सूचना प्रोद्योगिकी ऋण योजना ..

इस योजनान्तर्गत बेरोजगार शिक्षित युवको के लिए सूचना प्रोद्योगिकी से संबंधित किसी भी तरह की इकाई स्थापित करने के लिए अधिकतम रू- 20-00 लाख तक का ऋण 10 वर्ष की अवधि हेतु उपलब्ध कराया जाता है जिसके अन्तर्गत टेलीकोम सेण्टर, कम्प्यूटर शिक्षा/प्रशिक्षण केन्द्र, सोफ्‌टवेयर सेवायें आदि सम्मिलित है।

 

8- स्वास्थ्य सेवा ऋण योजना ..

इस योजनान्तर्गत स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के म में छोटे अस्पताल/क्लीनिक/नर्सिगहोम/डाईग्नोस्टिक सेण्टर/ मेटरनिटी होम आदि की स्थापना हेतु अधिकतम रू- 20-00 लाख तक का ऋण उपलब्ध कराया जाता है। ऋण की अवधि 3 से 10 वर्ष है।

 

9- महिला विकास ऋण ..

प्रदेश में महिलाओं को विशेषत विधवा एव कमजोर वर्ग की महिलाओं को जिनके नाम अचल सम्पत्ति नहीं है, आय के साधन जुटाने की दृष्टि से 50000 रूपये तक के अकृषि एवं डेयरी उद्देश्य हेतु ऋण 5 वर्ष की अवधि केे लिए देय। जनमंगल आवास कृषकों, सेवारत स्थायी वैतनिक कर्मचारियों एवं व्यापारियों आदि के जीवन स्तर को सुधारने एवं ग्रामीण जीवन में गुणात्मक सुधार की दृष्टि से भवन निर्माण हेतु पन्द्रह लाख रूपये तक का ऋण स्वयं की प्रतिभूति के आधार पर 15 वर्ष की अवधि जिसमें अधिकतम 18 माह की ग्रेस अवधि सम्मिलित है, के लिए उपलब्ध है। मकान मरम्मत/पुनरूद्धार हेतु भी पॉच लाख रूपये तक का ऋण 5 वर्ष की अवधि के लिए उपलब्ध है।

 

 

name
Design & Developed by Information & Computer Section @2014 R.S.L.D.B. Ltd
name